Baranti Purulia

नीला पानी हरी पहाड़ियों में सुकून के पल, आएं Baranti Purulia West Bengal

Baronti Purulia West Bengal, Muradi Dam

सितम्बर का महीना था। मानसून बीत चूका था। मन किया किसी ऐसे प्राकृतिक परिवेश में घूम आऊँ जहाँ प्रकृति को नज़दीक से महसूस किया जा सके।

Baranti Eco- Tourism या कहें Muradi Dam Purulia के बारे बहुत सुना था। फिर क्या था ? मैंने अपना बैग पैक किया। बाईक निकाली और चल पड़ा रांची से पुरुलिया के लिए। मौसम में थोड़ी ठंडक थी, मज़ा आ रहा था।

दोस्तों ! पुरुलिया, पश्चिम बंगाल का एक जिला है। पुरुलिया जाना जाता है अपने विविध ट्राइबल कल्चर, नेचुरल ब्यूटी, प्राकृतिक समरसता तथा प्राकृतिक सुंदरता के लिए।

Lush green Baranti Hill near Muradi Dam
A view of lush green Baranti Hill

क्या देखें बारंटी में ?

यदि आप एक प्रकृति प्रेमी हैं तो बहुत कुछ है यहाँ एन्जॉय करने के लिए !

एक बड़ी सी डैम है। दो पहाड़ियों- बारंटी पहाड़ और मुराडी पहाड़ को बाँध कर इस डैम का निर्माण किया गया है। जहाँ पहाड़ों की हरियाली मनमोहक है वहीँ डैम का साफ़ नीला पानी एक ठंडक एहसास जगाता है।

Muradi dam Purulia west bengal

हवा के ठन्डे झोंकों के बीच, डैम के पिंड़ में टहलना। सुबह का सूर्योदय और शाम का सूर्यास्त को अपने कैमरा में कैद करना रोमांचित कर देता है। इसके अलावे पलाश के फूल और कई तरह के तितलियाँ फूलों में मंडराते हुए दिख जायेंगे। और यदि आप lucky हैं तो कई तरह के वन्य प्राणी डैम में पानी पीते हुए नज़र आ जायेंगे।

कहाँ है मुराडी डैम ?

यह पश्चिम बंगाल के पुरुलिया जिला के रघुनाथपुर सबडिवीज़न में पड़ता है। और रामचंद्रपुर मीडियम इरीगेशन प्रोजेक्ट के द्वारा बनाया गया है। यह मुराडी स्टेशन से 4 KM की दूरी पर है। औऱ आसनसोल – आद्रा रेल सेक्शन पर पड़ता है।

ramchandrapur irrigation scheme

कैसी है बारंटी की सुंदरता ? देखें इस विडिओ में।

मुराडी विज़िट करने का बेस्ट टाइम

मानसून के तुरंत बाद यानि अगस्त से अप्रैल तक यहाँ घूमना बेस्ट होता है। जब डैम में पानी लबालब भरा होता है। चारों ओर हरियाली चरम पर होती है। मौसम सुहाना होता है।

फ़रवरी से अप्रैल तक पलाश के फूल खिले होते हैं। और कई तरह के पक्षी इनमे अठखेलियां करते हुए दिखेंगे।

Bumble on flowers
फूलों में मंडराता हुआ एक भौंरा

कोलकाता और रांची से कैसे पहुंचे ?

  • कोलकाता से बारंटी की दूरी 263 KM है। आप कोलकाता/ सियालदह/ हावड़ा से आसनसोल के लिए कोई भी ट्रेन लें। फिर आसनसोल से आद्रा के लिए लोकल ट्रेन लें। मुराडी स्टेशन उतरें। यहाँ से ऑटो ले लें। मुराडी से बारंटी मात्र 4 KM है।
  • रांची से आप आते हैं तो पुरुलिया, रघुनाथपुर, नेतुरिया होते हुए आएं। रांची से मुराडी की दूरी 112 KM है।
baranti purulia

कहाँ ठहरें ? Where to stay in Baranti ?

यहाँ कई सारे हॉटेल्स और ईको- टूरिज़्म रिसॉर्ट्स हैं। जहाँ AC और NON – AC कमरे उपलब्ध हैं।

जैसे- Lake Hill Resort, Akashmoni, Palashbari, Wildlife and Nature Study Hut, Mahulban, Aronyak, Monplash आदि।

wildlife and nature study hut
Baranti Wildlife and Nature Study Hut

Baranti Purulia tourist spot टूरिस्ट्स के लिए कितना safe है ?

यह जगह Eco- Tourism के लिए पॉपुलर है। यहाँ के ग्रामीण बहुत ही सौम्य हैं। दिन हो या रात यह जगह बिल्कुल सेफ है।

बारंटी के पास घूमने लायक अन्य पर्यटक स्थल:

अरे हाँ ! जब आप घूमने ही आये हैं तो क्यों न पास के Purulia Tourist spots को भी देखा जाये। यहाँ से नज़दीक और भी कई पर्यटक स्थल हैं। जो टूरिस्ट्स के लिए पॉपुलर हैं। जिसे दो से तीन दिनों में कवर किया जा सकता है।

  • गढ़ पंचकोट
  • पंचेत डैम
  • बिहारीनाथ पहाड़
  • जयचंडी पहाड़
  • अयोध्या पहाड़
  • मैथन डैम
  • कल्याणेश्वरी मंदिर मैथन
  • मुरगुमा डैम
  • बाघमुंडी

2 thoughts on “नीला पानी हरी पहाड़ियों में सुकून के पल, आएं Baranti Purulia West Bengal”

  1. Ranjit roshan

    1. Well described, covering minute details. 2. Good flow of thoughts with well choose words. 3. Well edited. 4. Should give link to the purulia tourist spots, as mentioned in the blog.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *