Home » Amazing facts » क्या आप जानते हैं? CBI और CID में क्या अंतर है | CBI aur CID me kya antar hai
सीबीआई का लोगो

क्या आप जानते हैं? CBI और CID में क्या अंतर है | CBI aur CID me kya antar hai

क्या आप जानते हैं CBI और CID क्या हैं? इन दोनों में क्या अंतर है?

आये दिन हम आपराधिक घटनाओं के बारे में अख़बारों में पढ़ते हैं, समाचार चैनल में और सोशल मीडिया में सुनते हैं। राजनैतिक दल और संगठन इनकी जांच CBI से कराने की माँग कर रहे हैं।

हाँ ! ये दोनों ही सरकारी जाँच एजेंसियाँ हैं। तो चलिए एक- एक कर दोनों के बारे हम आपको बताते हैं।

क्या है CBI ? इसका काम क्या होता है?

यह भारत की एक केंद्रीय जाँच एजेंसी है। इन्हें देश और विदेश स्तर पर होनेवाली आपराधिक घटनाओं की जाँच करने की ज़िम्मेदारी दिया जाता है। जैसे भ्रष्टाचार,घोटाले,हत्या एवं राष्ट्रहित से सम्बंधित अपराधों की जाँच भारत सरकार की ओर सीबीआई करती है।

CBI का फुल फॉर्म क्या है? CBI ka full form hindi me

Central Bureau of Investigation फुल फॉर्म है CBI का। हिंदी में कहें तो- केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो।

केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो भारत सरकार के कार्मिक,पेंशन तथा लोक शिकायत मंत्रालय के कार्मिक विभाग ( जो प्रधानमंत्री कार्यालय के अंतर्गत आता है) के अधीक्षण में काम करता है।

CBI का इतिहास

केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो के गठन का इतिहास बड़ा ही दिलचस्प है। इसका गठन द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान हुआ था। War and Supply Department में चल रहे घूस और भ्रस्टाचार की जाँच करना इसका काम था।

हमारे देश की आज़ादी के 6 वर्ष पूर्व 1941 में ब्रिटिश सरकार ने इसकी स्थापना की थी।

1946 में Delhi Special Police Establishment Act के तहत केंद्र शासित राज्यों को तथा अन्य सभी राज्यों को राज्य सरकार के सहमति से इसके जाँच के दायरा को बढ़ाया गया।

1963 में इसका नाम बदलकर CBI रख दिया गया। श्री डी. पी. कोहली CBI के संस्थापक निर्देशक थे। उनका कार्यकाल 1 अप्रैल 1963 से 31 मई 1968 तक था।

केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो का आदर्श उक्ति

उद्यमिता, निष्पक्षता और सत्यनिष्ठा। इसी सिद्धांत पर सीबीआई अपने कर्तव्यों का निर्वहन करती है।

सीबीआई का मुख्यालय दिल्ली में है। उनका एक अपना प्रशिक्षण अकादमी भी है जो ग़ज़िआबाद, उत्तर प्रदेश में है। जिसका निर्माण 1966 में किया गया था। इसके अलावे तीन क्षेत्रीय प्रशिक्षण केंद्र भी हैं जो मुम्बई, कोलकाता और चेन्नई में अवस्थित हैं।

सीबीआई का क्या काम होता है

केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो के अन्वेषण या जाँच कार्यों को हम चार प्रमुख बिंदुओं में देखेंगें:

भ्रष्टाचार निरोधक मामले

केंद्र सरकार, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम, भारत सरकार के स्वामित्व वाले निगम आदि के कर्मचारियों एवं अधिकारीयों के विरुद्ध मामलों का अन्वेषण

आर्थिक अपराध के मामले

वित्तीय घोटाले एवं गंभीर आर्थिक धोखाधड़ी आदि के मामलों की जाँच

विशेष अपराध के मामले

राज्य सरकारों के निवेदन और या उचत्तम न्यायालय या उच्च न्ययालय के निर्देश पर गंभीर मामलों का अनुसंधान

स्वतः संज्ञान के मामले (Suo Moto Cases)

केंद्रशासित राज्यों में CBI किसी भी मामले को उसकी गंभीरता के अनुरूप स्वयं मामले की जाँच अपने हाथों में ले सकती है।

यहाँ यह नोट करने वाली बात है कि अन्य राज्यों के मामलों में, CBI को उस राज्य सरकार की सहमति आवश्यक होती है।

CID क्या होता है

यह राज्य स्तर की एक जाँच एजेंसी होती है। जो राज्य पुलिस का एक अंग होता है। यह राज्य पुलिस का एक खुफिया विभाग है जो चोरी, हत्या, दंगे, अपहरण जैसे मामलों की छानबीन करती है।

सीआईडी का फुल फॉर्म क्या होता है CID ka full form kya hota hai

CID का फुल फॉर्म होता है- Crime Investigation Department

सीआईडी की स्थापना

इसकी स्थापना 1902 ई. में ब्रिटिश सरकार ने की थी। पुलिस आयोग की सिफ़ारिश के आधार पर इसकी स्थापना की गयी थी।

यह राज्य में घटित मामलों का अनुसन्धान करती है। तथा उच्च न्यायलय के निर्देश पर भी घटनाओं के जाँच का काम करती है।

सीबीआई और सीआईडी में अंतर क्या है

अब हम इन दोनों अंतर को भी देखेंगें ताकि इनके कार्यों को और भी स्पष्ट रूप से जान सकें।

  • CBI एक केंद्रीय जाँच एजेंसी है जबकि CID एक राज्य सरकार की जाँच एजेंसी है।
  • सीबीआई का कार्यक्षेत्र विस्तृत है। यानि देश और विदेश दोनों के मामलों का अन्वेषण करता है जबकि सीआईडी अपने राज्य के ही मामलों की जाँच करता है।
  • CBI सुप्रीम कोर्ट या हाई कोर्ट के निर्देश पर भी काम करता है। अन्य राज्यों के मामलों में उस राज्य की सहमति आवश्यक है। जबकि राज्यों को अपने राज्य में किसी सहमति की आवश्यकता नहीं।
  • सीबीआई के कर्मचारियों एवं अधिकारीयों की नियुक्ति केंद्र द्वारा की जाती है। जबकि सीआईडी के कर्मचारियों एवं अधिकारीयों की नियुक्ति राज्य पुलिस से होती है।

उम्मीद है, इस आर्टिकल द्वारा आपकी जिज्ञासाएं जैसे CID और CBI का फुल फॉर्म आदि जान पाए। इसके अलावे इन दोनों संस्थाओं के कार्य तथा सीआईडी और सीबीआई में अंतर को भली भांति समझ गए होंगे।

अपने विचार कमेंट बॉक्स में दे सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.