to show the cyclone

चक्रवाती तूफ़ान का नाम कैसे रखा जाता है ? toofan ka naam kaise rakha jata hai hindi

20 मई 2020, हमारे देश के कई तटीय राज्य में तबाही मचा दी। विषेशकर पश्चिम बंगाल और ओड़िशा में।

कारण था – चक्रवाती तूफ़ान। नाम था – अम्फान

तूफ़ान का नाम कैसे रखा जाता है ?

इसको जानने के लिए हम कुछ पीछे चलते हैं और जानते हैं तूफानों का नामकरण का एक छोटा सा इतिहास।

तूफानों के नामकरण का एक संक्षिप्त इतिहास

  • पहले यह काम Regional Specialised Meteorolgical Centre ( RSMC ) और Tropical Cyclone Warning Centre ( TCWC ) किया करती थी। पूरे विश्व में ऐसे 6 रीजनल सेंटर हैं। और TCWC के 5 सेंटर हैं।
  • इंडियन मेट्रोलॉजिकल डिपार्टमेंट ( IMD ) भारत में ऐसा ही एक रीजनल सेंटर है।
  • 2000 – में तूफानों के नामकरण का काम अपने अपने क्षेत्रों को दे दिया गया।
  • भारत में IMD ( Indian Meteorological Department ) ने 8 देशों को मिलाकर एक पैनल गठित किया।

इसमें ये देश शामिल थे

  • भारत, बांग्लादेश, म्यांमार, थाईलैंड, श्रीलंका, पाकिस्तान, ओमान और मालदीव।
  • 2018 – इन पाँच देशों को भी शामिल किया गया।
  • ईरान, क़तर, सऊदी अरब, संयुक्त अरब अमीरात और यमन।
  • इस तरह से कुल 13 देशों को मिलाकर, तूफानों के नामकरण वाले पैनल का गठन किया गया।

कैसे रखा जाता है चक्रवाती तूफानों का नाम ? How cyclones are given name hindi

  1. सभी तेरह देश, 13- 13 नामों का चयन कर प्रस्तावित करते हैं।
  2. इसकी एक सूची बनाई गई है।
  3. इस तरह से भारतीय मौसम विभाग ( IMD ) ने, 169 नाम की एक सूची इन तूफानों के लिए रिलीज़ किया है।

इन नामों के चयन में सभी देशों को इन निर्देशों का पालन करना होता है

  1. नाम किसी – १) राजनीति, राजनैतिक व्यक्तित्व से प्रेरित न हों, २) धार्मिक विश्वास और सांस्कृतिक जीवन को ठेस न पहुँचाता हो
  2. नाम से क्रूरता का एहसास न हो।
  3. ये नाम छोटा हो, और उच्चारण करने में सरल हो।
  4. यह नाम अंग्रेज़ी के 8 letters से अधिक का न हों।
  5. प्रस्तावित नाम का उच्चारण के साथ साथ voice over भी दिया जाये।
  6. एक नाम का प्रयोग दुबारा न किया जाये।
categories of cyclones
तूफ़ानो के कुछ केटेगरी

क्यों रखा जाता है तूफ़ानों के नाम ? Why cyclones are given names

  • यदि इन तूफानों का तकनिकी नाम रख दिया जाये तो आम नागरिक इसे समझ नहीं पाएंगे।
  • अतः ऐसा नाम रखा जाये जो सरल हो और याद रखने में भी आसानी हो।
  • इससे मौसम वैज्ञानिकों, मिडिया कर्मियों और आपदा प्रबंधन एजेंसियों को भी अपने कार्य निष्पादन में सहूलियत हो।
  • ताकि लोगों को इस आपदा के बारे में जागरूक और सावधान किया जा सके।

विभिन्न देशों द्वारा दिए गए नामों के कुछ उदाहरण

  1. भारत – Gati, tez, Aag, vyom
  2. बांग्लादेश – Nisarga, Biparjoy, Arnab, Upakul
  3. मालदीव – Burevi, Midhili, Kaani, Odi
  4. ओमान – Yaas, Remal, Sail, Naseem
  5. श्रीलंका – Asani, Shakti, Gigum, Gagana
  6. क़तर – Shaheen, Dana, Lulu, Mouj
  7. सऊदी अरब – Jawad, Fengal, Ghazeer, Asif
  8. थाईलैंड – Sitrang, Montha, Thianyot, Bulan
  9. यमन – Mocha, Ditwah, Diksam, Sira
  10. संयुक्त अरब अमीरात – Mondous, Senyar, Afoor, Nahham
  11. ईरान – Nivar, Hamoon, Akvan, Sepad
  12. म्यांमार – Tauktee, Michaung, Ngamann, Kyarthit
  13. पाकिस्तान – Gulab, Asna, Sahab, Afshan

आशा है, इस लेख से आपको तूफ़ानों के नामकरण की प्रक्रिया के बारे में कुछ जानकारियां अवश्य मिली हैं।

अपना विचार comment box में दें।

यह भी पढ़ें – PPE Kit क्या है ? कोरोना के समय इसका प्रयोग क्यों किया गया ?

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *